Diet Plan for Dengue: डेंगू के लिए आहार दिनचर्या

डेंगू के लिए आहार दिनचर्या                                                                                                                                                                                            
  1. प्रातः सुबह उठकर दो चम्मच पपीते के पत्तो का स्वरस +पतंजलि एलोवेरा स्वरस तुलसी स्वरस पियें |
10-15 पत्तिया तुलसी की
4-5पत्तिया गिलोय की
200 ml पानी को मंद आंच पर उबाले, जब 50 ml रह जाए, फिर ठण्डा करके पिए, यह प्रतिदिन 2 -3 बार पिए |
संतुलित  योजना
समयआहार योजना (शाकाहार )
नाश्ता (8:30 AM)1कप पतंजलि दिव्य पेय +1-2 पतंजलि आरोग्य बिस्कुट /कम नमक वाला पतंजलि आरोग्य दलिया /पोहा /उपमा (सूजी)  /पतंजलि कॉर्नफ्लेक्स /ओट्स + 1 प्लेट फलो का सलाद / 1 गिलास फलों का ताजा जूस (संतरानीम्बूआवलाअनारचकुंदर |
दिन का भोजन     (12:30-01:30)PM  1-2 पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा ) + मट्ठा /तक्र  + 1 कटोरी हरी सब्जिया (उबली हुई) +1 कटोरी दाल मूंग (पतली) |
सांयकालीन भोजन   (04:0 -04:30pm)
  • 1 कप दिव्य पेय +   2-3 पतंजलि आरोग्य बिस्कुट / सब्जियों का सूप |

रात्रि का भोजन     (07:00-08:00)PM1-2 पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा ) + 1 कटोरी दाल (पतली ) + 1 एक कटोरी हरी सब्जी (उबली हुई )
शयनकलीन (10:00)pmकप दूध हरिद्राखंड /बादाम पाक (पतंजलि) |
पथ्य आहार (जो लेना है)
अनाज:  पुराना शाली चावलगेहूंजौ
दाले:  मूंगमसूर
फल एवं सब्जियां: सेबपपीताअनारसंतरागाजरखीरालोकीतोरीपरवलकरेलाकददूमौसमी हरी सब्जियां
अन्य:  हल्का भोजनच्यवनप्राश
जीवनशैली…………
योग प्राणायाम एवं ध्यानभस्त्रिकाकपालभांतिबाह्यप्राणायामअनुलोम विलोमभ्रामरीउदगीथउज्जायीप्रनव जप
आसनसूक्ष्म व्यायाम
नोटतरलीय पदार्थो का सेवन 3-4 दिन करेरक्त को बढ़ाने के लिये अनार जूस काले अंगूर का जूसएलोवेरा जूसपपीते के पत्ते का रस तुलसी पत्र मिलाकर 2-3 बार ले |
अपथ्य (जो नहीं लेना है)
अनाज नया चावलमैदा
दाले:  कुलथ और अन्य दाल (चनाउड़दराजमा)
फल एवं सब्जियां: बैगनअरबीकटहल
अन्य: तेलीय भोजनफास्टफूडगुरु (देर से पचने वाला)\, दूषित भोजन
जीवनशैली: आधरणीय वेगो का रोकनाअत्यधिक व्यायामस्नान
योग प्राणायाम एवं ध्यान– वैद्यानिर्देशानुसार
आसन– वैद्यानिर्देशानुसार
सलाहयदि मरीज को चाय की आदत है तो इसके स्थान पर कप पतंजलि दिव्य पेय ले सकते हैं |
नियमित  रूप से अपनाये :-
(1) ध्यान एवं योग का अभ्यास प्रतिदिन करे (2) ताजा एवं हल्का गर्म भोजन अवश्य करे (3) भोजन धीरे धीरे शांत स्थान मे शांतिपूर्वकसकारात्मक एवं खुश मन से करे (4) तीन से चार बार भोजन अवश्य करे (5) किसी भी समय का भोजन नहीं त्यागे एवं अत्यधिक भोजन से परहेज करे (6) हफ्ते मे एक बार उपवास करे (7) अमाशय का 1/3rd / 1/4th भाग रिक्त छोड़े (8) भोजन को अच्छी प्रकार से चबाकर एवं धीरेधीरे खाये (9) भोजन लेने के पश्चात 3-5 मिनट टहले (10) सूर्यादय से पूर्व साथ जाग जाये [5:30 – 6:30 am] (11) प्रतिदिन दो बार दन्त धावन करे (12) प्रतिदिन जिव्हा निर्लेखन करे (13) भोजन लेने के पश्चात थोड़ा टहले एवं रात्रि मे सही समय पर नींद लें [9-10 PM]
और पढ़ेंः 
  • डेंगू बुखार के लिए घरेलू उपचार

Post a Comment

Previous Post Next Post