Halaman

    Social Items

Bhringraj Swaras: भृंगराज स्वरस दूर करे कई बीमारियां- Acharya Balkrishan Ji

मात्रा 125 मिली ग्राम
अनुपान जीरक क्वाथ।
गुण और उपयोग– यह वटी शुक्रक्षयजनित समस्त प्रकार के विकारोंकाशीघ्रपतन का तथा वीर्य का पतलापन  प्रमेह का नाश करती है। अति मैथुनजनित शिथिलता वीर्य की क्षीणतासमस्त प्रकार के मूत्ररोगकासश्वासकफज  वातज विकारों को भी शीघ्रातिशीघ्र नाश करने में यह वटी अति उत्तम है। यह वटी वीर्यवाही नाड़ियों और वातवाही नाड़ियों साथसाथ ही ह्य्दयमस्तिष्क  फुफ्फुसों पर भी अपना शीघ्र  विशेष प्रभाव दिखलाती है। यह वटी वीर्यवर्धकअत्यन्त वृष्य  उत्तम रसायन है। कुछ समय तक निरन्तर सेवन करने से यह वटी समस्त धातुओं की पुष्टि कर शरीर को बलवान बनाकर पुष्टि  कान्ति प्रदान करती है। समस्त वात रोगों पर यह विशेष कारगर है।

No comments