Halaman

    Social Items

आप मूंगफली जरूर खाते होंगे। भूनी हुई मूंगफली बहुत ही स्वादिष्ट होती है। मूंगफली खाने से शरीर को शक्ति मिलती है। मूंगफली में रहने वाले पोषक तत्वों के कारण ही मूंगफली को गरीबों का बादाम कहा जाता है, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि कई रोगों में मूंगफली खाने के फायदे (mungfali khane ke fayde) मिलते हैं। क्या आपको पता है कि दस्त, ह्रदय विकार, डायिबटी और दस्त में मूंगफली के सेवन से लाभ होता है।

आयुर्वेद के अनुसार, मूंगफली दस्त पर रोक लगाती है। मूंगफली के बीज शरीर को स्वस्थ रखते हैं। त्वचा विकार, किडनी और सर्दी-खांसी जैसी बीमारियों में मूंगफली खाने के फायदे (mungfali khane ke fayde) मिलते हैं। यह एक ऐसी औषधि है जो आसानी से बाजार में मिल जाती है, इसलिए आइए जानते हैं कि आप किस-किस रोग में मूंगफली से लाभ ले सकते हैं।

मूंगफली क्या है? (What is Groundnuts (Peanuts) in Hindi?)

मूंगफली (moongfali) की देश भर में कई प्रजातियां होती हैं। इसको देशी बादाम या चीनियां बादाम भी कहा जाता है। इसके पत्ते मेथी के पत्तों के जैसे होते हैं, लेकिन दोनों में कुछ अंतर होता है। मूंगफली के पत्ते मेथी के पत्ते से कुछ बड़े तथा चमकीले हरे रंग के होते हैं। इसके फूल सुनहरे-पीले रंग के होते हैं। इसके पौधों में से फूल बारीक-बारीक तन्तु  के रूप में निकलकर जमीन के अन्दर घुसते हैं, और जमीन में ही तन्तुओं से मूंगफली तैयार होती है। जिसको पकने के बाद खोदकर निकाला जाता है।
मूँगफली के तेल में पाए जाने वाले अनसेचुरेटेड वसीय अम्ल शरीर की लिपिड मात्रा और बॉडी माँस इन्डेक्स (लम्बाई एवं वजन का अनुपात) को ठीक रखने में गुणकारी पाए गए हैं। यहां मूंगफली के फायदे और नुकसान (Peanuts in hindi) से जुड़ी सभी जानकारियां बहुत ही आसान भाषा में लिखी गई है ताकि आप मूंगफली से पूरा-पूरा लाभ ले पाएं।

अनेक भाषाओं में मूंगफली के नाम (Name of Groundnuts (Peanuts) in Different Languages)

मूंगफली (mungfali) का वानस्पतिक नाम Arachis hypogaea Linn. (ऐराकिस हाइपोजिया) Syn-Arachis nambyquarae Hoehne है और यह Fabaceae (फैबेसी) कुल से हैं। मूंगफली को देश-विदेश में इन नामों से भी जाना जाता हैः-
Groundnuts in –
  • Hindi-मूंगफली, विलायती मूंग, भोंयशीघ्र
  • English-Pea nut (पी नट), ग्राउन्ड नट (Ground nut), चाईनीज ऑमन्ड (Chinese almond), मंकी नट (Monkey nut)
  • Sanskrit-भूशिम्बी, भूमुद्ग, स्नेहबीजा, मंडपी
  • Oriya-भूईरचना (Bhuirachna) 
  • Konkani-मुस्सोम्बीबीकन (Mussombibikan) 
  • Kannada-नेला गुडल (Nela gudal)
  • Gujarati-मांडवी (Mandavi), मूगफली (Mugphali) 
  • Tamil-नीलक्कडलई (Nilakkadalai)
  • Telugu-नीलासंगलु (Nilasanagalu), वेरुशांगलु (Verushanagalu)
  • Bengali-बिलातीमूंग (Bilatimung); 
  • Nepali-बदाम (Badam) 
  • Marathi-भूई मूग (Bhui muga)
  • Malayalam-नेलाकाला (Nelakkala)
  • Manipuri-बदाम (Badam)

मूंगफली के फायदे और उपयोग (Groundnuts (Peanuts) Benefits and Uses in Hindi)

मूंगफली (moongfali) खाने के फायदे, औषधीय गुण, प्रयोग की मात्रा एवं विधियां ये हैंः-

खांसी-सर्दी में मूंगफली के औषधीय गुण से लाभ (Benefits of Groundnuts (Peanuts) in Fighting with Cough and Cold in Hindi)


मूंगफली को छीलकर उसकी भस्म बना लें। 1 ग्राम भस्म को शहद या गुनगुने जल के साथ सेवन करने से खांसी और सर्दी में लाभ (mungfali khane ke fayde) होता है।
और पढ़ेंः खांसी को ठीक करने के लिए घरेलू उपाय

हृदय विकार में मूंगफली के सेवन से लाभ (Groundnuts (Peanuts) Benefits in Heart Related Disorder in Hindi)

मूंगफली तेल का इस्तेमाल करने से ह्रदय विकारों में लाभ होता है। मूंगफली के तेल के इस्तेमाल की जानकारी के बारे में किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह लें।
और पढ़ेंः ह्रदय के दर्द में पीला करने के फायदे 

मूंगफली के औषधीय गुण से दस्त पर रोक (Benefits of Groundnuts (Peanuts) to Stop Diarrhea in Hindi)

  • 1-2 बूँद मूंगफली बीज के तेल को पान में डालकर खाने से दस्त और पेट दर्द में लाभ होता है।
  • मूंगफली को भूनकर काली मिर्च, पुदीनानींबू तथा अदरक के साथ मिला लें। इसकी चटनी बनाकर सेवन करने से पाचनतंत्र संबंधी विकार तथा पेट के रोगों में लाभ (mungfali khane ke fayde) होता है।
और पढ़ेंः दस्त को रोकने के लिए असरदार घरेलू नुस्खे

मूंगफली के औषधीय गुण से डायबिटीज (मधुमेह) पर नियंत्रण (Groundnuts (Peanuts) Benefits in Controlling Diabetes in Hindi)

डायबिटीज़ (मधुमेह) के रोगियों को गेहूं के आटे और मूँगफली के आटे से बनी रोटी खाना चाहिए। इससे लाभ होता है
और पढ़ेंः डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए घरेलू उपाय

किडनी विकार में मूंगफली के सेवन से लाभ (Groundnuts (Peanuts) Uses in Kidney Related Disorder in Hindi)

मूंगफली के तेल के इस्तेमाल से किडनी विकार तथा सूजन की समस्या में फायदा होता है। बेहतर परिणाम के लिए किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से जरूर सलाह लें।
और पढ़ेंः किडनी विकार में कैसा होना चाहिए आपका डाइट प्लान

जोड़ों के दर्द में मूंगफली के फायदे (Uses of Groundnuts (Peanuts) for Joint Pain in Hindi)

जोड़ों के दर्द से  आराम पाने के लिए मूंगफली (moongfali) के तेल की मालिश करें। इससे जोड़ों का दर्द कम होता है।
और पढ़ेंः गठिया में पिपरमिंट के फायदे

त्वचा विकार में मूंगफली के फायदे (Groundnuts (Peanuts) Benefits for Skin Disease in Hindi)

  • मूंगफली तेल को लगाने से दाद, खुजली में लाभ मिलता है।
  • मूंगफली (mungfali) को भूनकर चूर्ण बना लें। इसके उबटन को अन्य द्रव्यों के साथ मिला लें। इसे त्वचा पर लगाने से त्वचा संंबंधित रोगों में लाभ होता है।
और पढ़ेंः कुष्ठ रोग में करंज के फायदे

शारीरिक कमजोरी में मूंगफली के सेवन से लाभ (Groundnuts (Peanuts) Uses to Treat Body Weakness in Hindi)

  • मूंगफली तेल का सेवन करने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है, और शरीर को शक्ति मिलती है।
  • सर्दी के मौसम में गुड़ में मूंगफली तथ तिल डालकर जो गुड़युक्त खाद्यपदार्थ तैयार किया जाता है, उसको खाने से शरिर को बहुत पौष्टिक  (mungfali khane ke fayde) मिलता है।
  • मूंगफली, चना तथा मूंग को रात में भिगोकर सुबह नियमित सेवन करें। इससे शरीर की कमजोरी दूर होती है और शक्ति मिलती है। अधिक व्यायाम व शारीरिक मेहनत करने वाले लोगों के लिए यह उपाय बहुत लाभकारी है।
और पढ़ें : शारीरिक कमजोरी दूर करने के लिए करें अश्वगंधा का प्रयोग 

मूंगफली के उपयोगी भाग (Beneficial Part of Groundnuts (Peanuts) in Hindi)

बीज

मूंगफली का इस्तेमाल कैसे करें? (How to Use Groundnuts (Peanuts) in Hindi?)

आप मूंगफली का इस्तेमाल इस तरह से कर सकते हैंः-
तेल- 1-2 बूँद 
यहां मूंगफली के फायदे और नुकसान (Peanuts in hindi) से जुड़ी सभी जानकारियां बहुत ही आसान भाषा में लिखी गई है ताकि आप मूंगफली से पूरा-पूरा लाभ ले पाएं, लेकिन किसी बीमारी के लिए मूंगफली का सेवन या उपयोग करने से पहले आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह जरूर लें। 

मूंगफली खाने से नुकसान (Groundnuts (Peanuts) Side Effect in Hindi)

भूनी हुई मूंगफली के सेवन के तुरन्त बाद पानी नहीं पीना चाहिए। इससे परेशानी (mungfali khane ke nuksan) हो सकती है। 

मूंगफली कहां पायी या उगायी जाती है? (Where is Groundnuts (Peanuts) Found or Grown?)


मूंगफली (moongfali) की खेती पूरे भारत में की जाती है। यह बाजार में परचून की दुकान पर आसानी से मिल जाती है।
और पढ़ें: डायबिटीज डाइट चार्ट

Groundnuts (Peanuts): मूंगफली के हैं बहुत अनोखे फायदे

आप मूंगफली जरूर खाते होंगे। भूनी हुई मूंगफली बहुत ही स्वादिष्ट होती है। मूंगफली खाने से शरीर को शक्ति मिलती है। मूंगफली में रहने वाले पोषक तत्वों के कारण ही मूंगफली को गरीबों का बादाम कहा जाता है, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि कई रोगों में मूंगफली खाने के फायदे (mungfali khane ke fayde) मिलते हैं। क्या आपको पता है कि दस्त, ह्रदय विकार, डायिबटी और दस्त में मूंगफली के सेवन से लाभ होता है।

आयुर्वेद के अनुसार, मूंगफली दस्त पर रोक लगाती है। मूंगफली के बीज शरीर को स्वस्थ रखते हैं। त्वचा विकार, किडनी और सर्दी-खांसी जैसी बीमारियों में मूंगफली खाने के फायदे (mungfali khane ke fayde) मिलते हैं। यह एक ऐसी औषधि है जो आसानी से बाजार में मिल जाती है, इसलिए आइए जानते हैं कि आप किस-किस रोग में मूंगफली से लाभ ले सकते हैं।

मूंगफली क्या है? (What is Groundnuts (Peanuts) in Hindi?)

मूंगफली (moongfali) की देश भर में कई प्रजातियां होती हैं। इसको देशी बादाम या चीनियां बादाम भी कहा जाता है। इसके पत्ते मेथी के पत्तों के जैसे होते हैं, लेकिन दोनों में कुछ अंतर होता है। मूंगफली के पत्ते मेथी के पत्ते से कुछ बड़े तथा चमकीले हरे रंग के होते हैं। इसके फूल सुनहरे-पीले रंग के होते हैं। इसके पौधों में से फूल बारीक-बारीक तन्तु  के रूप में निकलकर जमीन के अन्दर घुसते हैं, और जमीन में ही तन्तुओं से मूंगफली तैयार होती है। जिसको पकने के बाद खोदकर निकाला जाता है।
मूँगफली के तेल में पाए जाने वाले अनसेचुरेटेड वसीय अम्ल शरीर की लिपिड मात्रा और बॉडी माँस इन्डेक्स (लम्बाई एवं वजन का अनुपात) को ठीक रखने में गुणकारी पाए गए हैं। यहां मूंगफली के फायदे और नुकसान (Peanuts in hindi) से जुड़ी सभी जानकारियां बहुत ही आसान भाषा में लिखी गई है ताकि आप मूंगफली से पूरा-पूरा लाभ ले पाएं।

अनेक भाषाओं में मूंगफली के नाम (Name of Groundnuts (Peanuts) in Different Languages)

मूंगफली (mungfali) का वानस्पतिक नाम Arachis hypogaea Linn. (ऐराकिस हाइपोजिया) Syn-Arachis nambyquarae Hoehne है और यह Fabaceae (फैबेसी) कुल से हैं। मूंगफली को देश-विदेश में इन नामों से भी जाना जाता हैः-
Groundnuts in –
  • Hindi-मूंगफली, विलायती मूंग, भोंयशीघ्र
  • English-Pea nut (पी नट), ग्राउन्ड नट (Ground nut), चाईनीज ऑमन्ड (Chinese almond), मंकी नट (Monkey nut)
  • Sanskrit-भूशिम्बी, भूमुद्ग, स्नेहबीजा, मंडपी
  • Oriya-भूईरचना (Bhuirachna) 
  • Konkani-मुस्सोम्बीबीकन (Mussombibikan) 
  • Kannada-नेला गुडल (Nela gudal)
  • Gujarati-मांडवी (Mandavi), मूगफली (Mugphali) 
  • Tamil-नीलक्कडलई (Nilakkadalai)
  • Telugu-नीलासंगलु (Nilasanagalu), वेरुशांगलु (Verushanagalu)
  • Bengali-बिलातीमूंग (Bilatimung); 
  • Nepali-बदाम (Badam) 
  • Marathi-भूई मूग (Bhui muga)
  • Malayalam-नेलाकाला (Nelakkala)
  • Manipuri-बदाम (Badam)

मूंगफली के फायदे और उपयोग (Groundnuts (Peanuts) Benefits and Uses in Hindi)

मूंगफली (moongfali) खाने के फायदे, औषधीय गुण, प्रयोग की मात्रा एवं विधियां ये हैंः-

खांसी-सर्दी में मूंगफली के औषधीय गुण से लाभ (Benefits of Groundnuts (Peanuts) in Fighting with Cough and Cold in Hindi)


मूंगफली को छीलकर उसकी भस्म बना लें। 1 ग्राम भस्म को शहद या गुनगुने जल के साथ सेवन करने से खांसी और सर्दी में लाभ (mungfali khane ke fayde) होता है।
और पढ़ेंः खांसी को ठीक करने के लिए घरेलू उपाय

हृदय विकार में मूंगफली के सेवन से लाभ (Groundnuts (Peanuts) Benefits in Heart Related Disorder in Hindi)

मूंगफली तेल का इस्तेमाल करने से ह्रदय विकारों में लाभ होता है। मूंगफली के तेल के इस्तेमाल की जानकारी के बारे में किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह लें।
और पढ़ेंः ह्रदय के दर्द में पीला करने के फायदे 

मूंगफली के औषधीय गुण से दस्त पर रोक (Benefits of Groundnuts (Peanuts) to Stop Diarrhea in Hindi)

  • 1-2 बूँद मूंगफली बीज के तेल को पान में डालकर खाने से दस्त और पेट दर्द में लाभ होता है।
  • मूंगफली को भूनकर काली मिर्च, पुदीनानींबू तथा अदरक के साथ मिला लें। इसकी चटनी बनाकर सेवन करने से पाचनतंत्र संबंधी विकार तथा पेट के रोगों में लाभ (mungfali khane ke fayde) होता है।
और पढ़ेंः दस्त को रोकने के लिए असरदार घरेलू नुस्खे

मूंगफली के औषधीय गुण से डायबिटीज (मधुमेह) पर नियंत्रण (Groundnuts (Peanuts) Benefits in Controlling Diabetes in Hindi)

डायबिटीज़ (मधुमेह) के रोगियों को गेहूं के आटे और मूँगफली के आटे से बनी रोटी खाना चाहिए। इससे लाभ होता है
और पढ़ेंः डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए घरेलू उपाय

किडनी विकार में मूंगफली के सेवन से लाभ (Groundnuts (Peanuts) Uses in Kidney Related Disorder in Hindi)

मूंगफली के तेल के इस्तेमाल से किडनी विकार तथा सूजन की समस्या में फायदा होता है। बेहतर परिणाम के लिए किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से जरूर सलाह लें।
और पढ़ेंः किडनी विकार में कैसा होना चाहिए आपका डाइट प्लान

जोड़ों के दर्द में मूंगफली के फायदे (Uses of Groundnuts (Peanuts) for Joint Pain in Hindi)

जोड़ों के दर्द से  आराम पाने के लिए मूंगफली (moongfali) के तेल की मालिश करें। इससे जोड़ों का दर्द कम होता है।
और पढ़ेंः गठिया में पिपरमिंट के फायदे

त्वचा विकार में मूंगफली के फायदे (Groundnuts (Peanuts) Benefits for Skin Disease in Hindi)

  • मूंगफली तेल को लगाने से दाद, खुजली में लाभ मिलता है।
  • मूंगफली (mungfali) को भूनकर चूर्ण बना लें। इसके उबटन को अन्य द्रव्यों के साथ मिला लें। इसे त्वचा पर लगाने से त्वचा संंबंधित रोगों में लाभ होता है।
और पढ़ेंः कुष्ठ रोग में करंज के फायदे

शारीरिक कमजोरी में मूंगफली के सेवन से लाभ (Groundnuts (Peanuts) Uses to Treat Body Weakness in Hindi)

  • मूंगफली तेल का सेवन करने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है, और शरीर को शक्ति मिलती है।
  • सर्दी के मौसम में गुड़ में मूंगफली तथ तिल डालकर जो गुड़युक्त खाद्यपदार्थ तैयार किया जाता है, उसको खाने से शरिर को बहुत पौष्टिक  (mungfali khane ke fayde) मिलता है।
  • मूंगफली, चना तथा मूंग को रात में भिगोकर सुबह नियमित सेवन करें। इससे शरीर की कमजोरी दूर होती है और शक्ति मिलती है। अधिक व्यायाम व शारीरिक मेहनत करने वाले लोगों के लिए यह उपाय बहुत लाभकारी है।
और पढ़ें : शारीरिक कमजोरी दूर करने के लिए करें अश्वगंधा का प्रयोग 

मूंगफली के उपयोगी भाग (Beneficial Part of Groundnuts (Peanuts) in Hindi)

बीज

मूंगफली का इस्तेमाल कैसे करें? (How to Use Groundnuts (Peanuts) in Hindi?)

आप मूंगफली का इस्तेमाल इस तरह से कर सकते हैंः-
तेल- 1-2 बूँद 
यहां मूंगफली के फायदे और नुकसान (Peanuts in hindi) से जुड़ी सभी जानकारियां बहुत ही आसान भाषा में लिखी गई है ताकि आप मूंगफली से पूरा-पूरा लाभ ले पाएं, लेकिन किसी बीमारी के लिए मूंगफली का सेवन या उपयोग करने से पहले आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह जरूर लें। 

मूंगफली खाने से नुकसान (Groundnuts (Peanuts) Side Effect in Hindi)

भूनी हुई मूंगफली के सेवन के तुरन्त बाद पानी नहीं पीना चाहिए। इससे परेशानी (mungfali khane ke nuksan) हो सकती है। 

मूंगफली कहां पायी या उगायी जाती है? (Where is Groundnuts (Peanuts) Found or Grown?)


मूंगफली (moongfali) की खेती पूरे भारत में की जाती है। यह बाजार में परचून की दुकान पर आसानी से मिल जाती है।
और पढ़ें: डायबिटीज डाइट चार्ट

No comments