Halaman

    Social Items

सोरायसिस त्वचा से जुड़ी एक बीमारी है। सोरायसिस रोग में त्वचा के ऊपर लाल धब्बा या पपड़ी-सी बन जाती है। पपड़ी में खुजली होती है। सोरायसिस की बीमारी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने के कारण होती है। सोरायसिस के कारण रोगी को आम जीवन से संबंधित अनेक तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर आप भी सोरायसिस से पीड़त हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि सोरायसिस का इलाज कराने के साथ-साथ सोरायसिस के लिए डाइट प्लान को अपनाकर आप बीमारी पर उचित नियंत्रण पा सकते हैं।
यसिस के लिए डाइट चार्ट की जानकारी दी जा रही है। इस डाइट प्लान को अपनाकर आप सोरयासिस के इलाज के दौरान उचित लाभ पा सकेंगे।

सोरायसिस रोग में क्या खाएं (Your Diet During Psoriasis)

सोरायसिस से ग्रस्त लोगों का आहार ऐसा होना चाहिएः-
  • अनाजपुराना चावलगेहूंजौ
  • दाल: अरहरमूंगमसूर दाल
  • फल एवं सब्जियांसहजनटिण्डापरवललौकीतोरईखीराहरिद्रालहसुनअदरकअनारजायफल
  • अन्यअजवाइनशुंठीसौंफहिंगकाला नमकजीरालहसुनगुनगुना पानी का सेवन करें
और पढ़ेंः लहसुन के फायदे और नुकसान

सोरायसिस रोग में क्या ना खाएं (Food to Avoid in Psoriasis)

सोरायसिस से ग्रस्त लोगों को इनका सेवन नहीं करना चाहिएः-
  • अनाजनया धानमैदा,
  • दालचनामटरउड़द
  • फल एवं सब्जियांपत्तेदार सब्जियाँ– सरसोंटमाटरबैंगननारंगीनींबूखट्टे अंगूरआलूकंदमूल
  • अन्यदहीमछलीगुड़दूधअधिक नमककोल्ड्रिंक्ससंक्रमित/फफूंदी युक्त भोजनअशुद्ध एवं संक्रमित जल
  • सख्त मनातैलीय मसालेदार भोजनमांसहार और मांसाहार सूपअचारअधिक तेलअधिक नमककोल्डड्रिंक्समैदे वाले पर्दाथशराबफास्टफूडसॉफ्टडिंक्सजंक फ़ूडडिब्बा बंद खाद्य पदार्थतला हुआ एवं कठिनाई से पाचन वाला भोजन
  • विरुद्ध आहारमछली + दूध
और पढ़ेंः दूध से होने वाले अनेक फायदे

सोरायसिस के इलाज के दौरान आपका डाइट प्लान (Diet Plan During Psoriasis Treatment)

सोरायसिस के उपचार के लिए सुबह उठकर दांतों को साफ करने (बिना कुल्ला कियेसे पहले खाली पेट 1-2 गिलास गुनगुना पानी पिए। नाश्ते से पहले पतंजलि आवंला व एलोवेरा रस पिएं।

समयआहार योजना (शाकाहार)
नाश्ता (8 :30 AM)कप पतंजलि दिव्य पेय + 2-3  पतंजलि आरोग्य बिस्कुट पोहा /उपमा (सूजी ) /दलिया /अंकुरित अनाज / 2 पतली रोटी  (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा) + 1 कटोरी सब्जीफलों का सलाद (सेबपपीताअनार)
दिन का भोजन  (12:30-01:30 PM1-2 पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा) +1/2 कटोरी हरी सब्जियां (उबली हुई ) + 1/2 कटोरी दाल मूंग (पतली) + 1प्लेट सलाद
शाम का नाश्ता (5:30-6:00 Pm)कप पतंजलि दिव्य पेय + 2-3  पतंजलि आरोग्य बिस्कुट /सब्जियों का सूप
रात का भोजन (7: 00 – 8:00 Pm)1-2  पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा) +1 कटोरी हरी सब्जियांरेशेदार + 1 कटोरी दाल मूंग (पतली)   
सलाहयदि मरीज को चाय की आदत है तो इसके स्थान पर कप पतंजलि दिव्य पेय दे सकते है।
नोट: त्वचा के लिए महामरीच्यादि तेल व कायाकल्प तेल इस्तेमाल करें।
और पढ़ेंः मूंग दाल के फायदे और उपयोग

सोरायसिस की बीमारी में आपकी जीवनशैली (Your Lifestyle for Psoriasis Treatment)

सोरायसिस की बीमारी में आपकी जीवनशैली ऐसी होनी चाहिएः-
  • दिन में न सोएं।
  • भोजन के बाद टहलें।
  • पहले वाला भोजन पचे बिना न खाएं।
  • हल्का व्यायाम करें।
  • तनाव मुक्त जीवनशैली जीने की कोशिश करें।
  • त्वचा को सूखा रखने की कोशिश करें।
  • सूरज की तेज रोशनी से त्वचा की रक्षा करें।
  • गुस्साडरऔर चिंता न करें।
  • पेशाब और शौच को न रोकें।
  • आसमान में बादल होने पर ठंडे जल का सेवन करें।
  • पूर्वी हवाओं का अत्यधिक सेवन करें।

सोरायसिस की बीमारी में ध्यान रखने वाली बातें (Points to be Remember in Psoriasis Disease)

सोरायसिस से मुक्ति पाने के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना हैः-
(1) ध्यान एवं योग का अभ्यास रोज करें।
(2) ताजा एवं हल्का गर्म भोजन अवश्य करें।
(3) भोजन धीरे-धीरे शांत स्थान में शांतिपूर्वकसकारात्मक एवं खुश मन से करें।
(4) तीन से चार बार भोजन अवश्य करें।
(5) किसी भी समय का भोजन नहीं त्यागें एवं अत्यधिक भोजन से परहेज करें।
(6) हफ्ते में एक बार उपवास करें।
(7) अमाशय का 1/3rd / 1/4th भाग रिक्त छोड़ें
(8) भोजन को अच्छी प्रकार से चबाकर एवं धीरेधीरे खायें।
(9) भोजन लेने के बाद 3-5 मिनट टहलें।
(10) सूर्यादय से पहले [5:30 – 6:30 am] जाग जायें। 
(11) रोज दो बार दांतों को साफ करें।
(12) रोज जिव्हा करें।
(13) भोजन लेने के बाद थोड़ा टहलें।
(14) रात में सही समय पर [9- 10 PM] नींद लें।

योग और आसन से सोरायसिस का उपचार (Yoga and Asana for Psoriasis Treatment)

सोरायसिस से छुटकारा पाने के लिए आप ये योग और आसन कर सकते हैंः-
  • और पढ़ेः सोरायसिस के कारण, लक्षण और घरेलू इलाजयोग प्राणायाम एवं ध्यानभस्त्रिकाकपालभांतिबाह्यप्राणायाअनुलोम विलोमभ्रामरीउदगीथउज्जायीप्रनव जप।
  • आसनसूक्ष्म व्यायामपश्चिमोत्तानासनहलासनमर्कटासनसर्वांगासन।

सोरायसिस के मरीजों के लिए डाइट प्लान (Diet Plan for Psoriasis Patient)

सोरायसिस त्वचा से जुड़ी एक बीमारी है। सोरायसिस रोग में त्वचा के ऊपर लाल धब्बा या पपड़ी-सी बन जाती है। पपड़ी में खुजली होती है। सोरायसिस की बीमारी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने के कारण होती है। सोरायसिस के कारण रोगी को आम जीवन से संबंधित अनेक तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर आप भी सोरायसिस से पीड़त हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि सोरायसिस का इलाज कराने के साथ-साथ सोरायसिस के लिए डाइट प्लान को अपनाकर आप बीमारी पर उचित नियंत्रण पा सकते हैं।
यसिस के लिए डाइट चार्ट की जानकारी दी जा रही है। इस डाइट प्लान को अपनाकर आप सोरयासिस के इलाज के दौरान उचित लाभ पा सकेंगे।

सोरायसिस रोग में क्या खाएं (Your Diet During Psoriasis)

सोरायसिस से ग्रस्त लोगों का आहार ऐसा होना चाहिएः-
  • अनाजपुराना चावलगेहूंजौ
  • दाल: अरहरमूंगमसूर दाल
  • फल एवं सब्जियांसहजनटिण्डापरवललौकीतोरईखीराहरिद्रालहसुनअदरकअनारजायफल
  • अन्यअजवाइनशुंठीसौंफहिंगकाला नमकजीरालहसुनगुनगुना पानी का सेवन करें
और पढ़ेंः लहसुन के फायदे और नुकसान

सोरायसिस रोग में क्या ना खाएं (Food to Avoid in Psoriasis)

सोरायसिस से ग्रस्त लोगों को इनका सेवन नहीं करना चाहिएः-
  • अनाजनया धानमैदा,
  • दालचनामटरउड़द
  • फल एवं सब्जियांपत्तेदार सब्जियाँ– सरसोंटमाटरबैंगननारंगीनींबूखट्टे अंगूरआलूकंदमूल
  • अन्यदहीमछलीगुड़दूधअधिक नमककोल्ड्रिंक्ससंक्रमित/फफूंदी युक्त भोजनअशुद्ध एवं संक्रमित जल
  • सख्त मनातैलीय मसालेदार भोजनमांसहार और मांसाहार सूपअचारअधिक तेलअधिक नमककोल्डड्रिंक्समैदे वाले पर्दाथशराबफास्टफूडसॉफ्टडिंक्सजंक फ़ूडडिब्बा बंद खाद्य पदार्थतला हुआ एवं कठिनाई से पाचन वाला भोजन
  • विरुद्ध आहारमछली + दूध
और पढ़ेंः दूध से होने वाले अनेक फायदे

सोरायसिस के इलाज के दौरान आपका डाइट प्लान (Diet Plan During Psoriasis Treatment)

सोरायसिस के उपचार के लिए सुबह उठकर दांतों को साफ करने (बिना कुल्ला कियेसे पहले खाली पेट 1-2 गिलास गुनगुना पानी पिए। नाश्ते से पहले पतंजलि आवंला व एलोवेरा रस पिएं।

समयआहार योजना (शाकाहार)
नाश्ता (8 :30 AM)कप पतंजलि दिव्य पेय + 2-3  पतंजलि आरोग्य बिस्कुट पोहा /उपमा (सूजी ) /दलिया /अंकुरित अनाज / 2 पतली रोटी  (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा) + 1 कटोरी सब्जीफलों का सलाद (सेबपपीताअनार)
दिन का भोजन  (12:30-01:30 PM1-2 पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा) +1/2 कटोरी हरी सब्जियां (उबली हुई ) + 1/2 कटोरी दाल मूंग (पतली) + 1प्लेट सलाद
शाम का नाश्ता (5:30-6:00 Pm)कप पतंजलि दिव्य पेय + 2-3  पतंजलि आरोग्य बिस्कुट /सब्जियों का सूप
रात का भोजन (7: 00 – 8:00 Pm)1-2  पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा) +1 कटोरी हरी सब्जियांरेशेदार + 1 कटोरी दाल मूंग (पतली)   
सलाहयदि मरीज को चाय की आदत है तो इसके स्थान पर कप पतंजलि दिव्य पेय दे सकते है।
नोट: त्वचा के लिए महामरीच्यादि तेल व कायाकल्प तेल इस्तेमाल करें।
और पढ़ेंः मूंग दाल के फायदे और उपयोग

सोरायसिस की बीमारी में आपकी जीवनशैली (Your Lifestyle for Psoriasis Treatment)

सोरायसिस की बीमारी में आपकी जीवनशैली ऐसी होनी चाहिएः-
  • दिन में न सोएं।
  • भोजन के बाद टहलें।
  • पहले वाला भोजन पचे बिना न खाएं।
  • हल्का व्यायाम करें।
  • तनाव मुक्त जीवनशैली जीने की कोशिश करें।
  • त्वचा को सूखा रखने की कोशिश करें।
  • सूरज की तेज रोशनी से त्वचा की रक्षा करें।
  • गुस्साडरऔर चिंता न करें।
  • पेशाब और शौच को न रोकें।
  • आसमान में बादल होने पर ठंडे जल का सेवन करें।
  • पूर्वी हवाओं का अत्यधिक सेवन करें।

सोरायसिस की बीमारी में ध्यान रखने वाली बातें (Points to be Remember in Psoriasis Disease)

सोरायसिस से मुक्ति पाने के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना हैः-
(1) ध्यान एवं योग का अभ्यास रोज करें।
(2) ताजा एवं हल्का गर्म भोजन अवश्य करें।
(3) भोजन धीरे-धीरे शांत स्थान में शांतिपूर्वकसकारात्मक एवं खुश मन से करें।
(4) तीन से चार बार भोजन अवश्य करें।
(5) किसी भी समय का भोजन नहीं त्यागें एवं अत्यधिक भोजन से परहेज करें।
(6) हफ्ते में एक बार उपवास करें।
(7) अमाशय का 1/3rd / 1/4th भाग रिक्त छोड़ें
(8) भोजन को अच्छी प्रकार से चबाकर एवं धीरेधीरे खायें।
(9) भोजन लेने के बाद 3-5 मिनट टहलें।
(10) सूर्यादय से पहले [5:30 – 6:30 am] जाग जायें। 
(11) रोज दो बार दांतों को साफ करें।
(12) रोज जिव्हा करें।
(13) भोजन लेने के बाद थोड़ा टहलें।
(14) रात में सही समय पर [9- 10 PM] नींद लें।

योग और आसन से सोरायसिस का उपचार (Yoga and Asana for Psoriasis Treatment)

सोरायसिस से छुटकारा पाने के लिए आप ये योग और आसन कर सकते हैंः-
  • और पढ़ेः सोरायसिस के कारण, लक्षण और घरेलू इलाजयोग प्राणायाम एवं ध्यानभस्त्रिकाकपालभांतिबाह्यप्राणायाअनुलोम विलोमभ्रामरीउदगीथउज्जायीप्रनव जप।
  • आसनसूक्ष्म व्यायामपश्चिमोत्तानासनहलासनमर्कटासनसर्वांगासन।

No comments