Halaman

    Social Items

क्या आप एक्जिमा से ग्रस्त हैं और बीमारी का इलाज भी करा रहे हैं। क्या आप जानते हैं कि इलाज के दौरान अगर आप सही खान-पान ना रखें तो बीमारी कोई भी हो जल्दी ठीक नहीं होती है। डॉक्टर के अनुसार, मरीजों को एक्जिमा का इलाज कराने के साथ-साथ उचित खान-पान की बहुत जरूरत होती है। इसलिए यहां एक्जिमा के लिए डाइट प्लान की जानकारी दी जा रही है।
एक्जिमा रोगी इस डाइट चार्ट को अपनाकर ना सिर्फ बीमारी पर नियंत्रण पा सकते हैं, बल्कि रोग को जल्दी ठीक करने में भी सफल हो सकते हैं। 

एक्जिमा रोग में क्या खाएं (Your Diet During Eczema)

एक्जिमा से ग्रस्त लोगों का आहार ऐसा होना चाहिएः-
  • अनाजगेहूंजौ
  • दाल: मूँगमसूर व अरहर
  • फल एवं सब्जियांसहजन (शिग्रु)टिंडापरवललहसुनटमाटरमौसमी ताजी सब्जियाँ (लौकीतोरईकरेलाकददूसेबपपीताअनारगोभीगाजरफालसाआंवला।
  • अन्यहल्का भोजनघीशहद,  गुनगुना पानीतीखा आहारपुराना घीनारियल तेलनींबूलहसुनजायफल।
और पढ़ें: सेक्सुअल पॉवर बढ़ाने में जायफल के फायदे

एक्जिमा रोग में क्या ना खाएं (Food to Avoid in Eczema)

एक्जिमा से ग्रस्त लोगों को इनका सेवन नहीं करना चाहिएः-
  • अनाजनया धानमैदा
  • दालकाबुली चनामटरकाले चनादेशी चने
  • फल एवं सब्जियांआलूशिमला मिर्चकटहलबैंगनअरबी (गुइया), भिंडीजामुनआड़ूकच्चा आमकेलासभी मिर्च
  • अन्यऐसे भोजन जो जलन और गैस उत्पन्न करे और पाचन कम करे।
  •  दूध, दहीमछलीगुड़उड़दठंडा भोजनदूषित पानीठंडा पानीसूखा भोजनठंडे भोज्य पदार्थ। देर से भोजन नहीं लें।
  • विरुद्धाहार (दूध + मछली)गुड़सूखे मेवे।
  • सख्त मना :- तैलीय मसालेदार भोजनमांसहार और मांसाहार सूपअचारतेलअधिक नमककोल्डड्रिंक्समैदे वाले पर्दाथशराबफास्टफूडसॉफ्टड्रिंक्सजंक फ़ूडडिब्बा बंद खाद्य पदार्थ।
और पढ़ेंः दूध से होने वाले अनेक फायदे

एक्जिमा के इलाज के दौरान आपका डाइट प्लान (Diet Plan for Eczema Treatment)

एक्जिमा के उपचार के लिए सुबह उठकर दांतों को साफ करने (बिना कुल्ला कियेसे पहले खाली पेट 1-2 गिलास गुनगुना पानी पिएं। नाश्ते से पहले पतंजलि आवंला व एलोवेरा रस पिएं।

समयआहार योजना शाकाहार )
नाश्ता (8 :30 AM)कप पतंजलि दिव्य पेय + 2-3  पतंजलि आरोग्य बिस्कुट /कम नमक वाला पतंजलि आरोग्य दलिया /पोहा /उपमा (सूजी ) / अंकुरित अनाज /1- 2 पतली रोटी (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा ) + 1 कटोरी  सब्जी (उबली हुई) / 1 प्लेट फलों का सलाद (सेबपपीताअनार)
दिन का भोजन  (12:30-01:30 PM1-2 पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा ) +1 कटोरी चावल (मांण्ड रहित)/खिचड़ी, 1- कटोरी हरी सब्जियां (उबली हुई) + 1- कटोरी दाल मूंग (पतली ) + 1 प्लेट सलाद
शाम का नाश्ता (5:30-6:00 pm)1 कप दिव्य पेय + 1-2 बिस्कुट / (आरोग्य, पतंजलि) / सब्जियों सूपसलाद
रात का भोजन (7: 00 – 8:00 Pm)1-2  पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा ) + 1 कटोरी हरी सब्जियां रेशेदार + 1 कटोरी दाल मूंग (पतली )   
सोते समय (10:00 PM)पतंजलि हरिद्राखंड पाउडर गिलास गुनगुना पानी के साथ लें |
सलाहयदि मरीज को चाय की आदत है तो इसके स्थान पर कप पतंजलि दिव्य पेय दे सकते हैं |
और पढ़ेंः मूंग के फायदे और उपयोग

एक्जिमा की बीमारी में आपकी जीवनशैली (Your Lifestyle for Eczema Treatment)

एक्जिमा की बीमारी में आपकी जीवनशैली ऐसी होनी चाहिएः-
  • थोड़ा व्यायाम करें।
  • रोज कायाकल्प तेल से मालिश कर स्नान करें
  • भोजन पचने के बाद ही कुछ खाएं।
  • गुस्साडर या चिंता ना करें।
  • दिन में ना सोएं।
  • पेशाब और शौच को ना रोकें।
  • पूर्वी हवाओं का अत्यधिक सेवन करें।
और पढ़ें – एक्जिमा का घरेलू इलाज

एक्जिमा की बीमारी में ध्यान रखने वाली बातें (Points to be Remember in Eczema Disease)

एक्जिमा से मुक्ति पाने के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना हैः-
(1) ध्यान एवं योग का अभ्यास रोज करें।
(2) ताजा एवं हल्का गर्म भोजन अवश्य करें।
(3) भोजन धीरे-धीरे शांत स्थान में शांतिपूर्वकसकारात्मक एवं खुश मन से करें।
(4) तीन से चार बार भोजन अवश्य करें।
(5) किसी भी समय का भोजन नहीं त्यागें एवं अत्यधिक भोजन से परहेज करें।
(6) हफ्ते में एक बार उपवास करें।
(7) अमाशय का 1/3rd / 1/4th भाग खाली छोड़ें।
(8) भोजन को अच्छी प्रकार से चबाकर एवं धीरेधीरे खायें।
(9) भोजन लेने के बाद 3-5 मिनट टहलें।
(10) सूर्यादय से पहले [5:30 – 6:30 am] जाग जायें।
(11) रोज दो बार दांत साफ करें।
(12) रोज जिव्हा करें।
(13) भोजन लेने के बाद थोड़ा टहलें।
(14) रात में सही समय [9- 10 PM] पर नींद लें।
और पढ़ेंः एक्जिमा के कारण, लक्षण, घरेलू इलाज और परहेज

योग और आसन से एक्जिमा का उपचार (Yoga and Asana for Eczema Treatment)

एक्जिमा से छुटकारा पाने के लिए आप ये योग और आसन कर सकते हैंः-
  • आसनसूक्ष्म व्यायामपश्चिमोत्तानासनहलासनमर्कटासनसर्वांगासन।
  • योग प्राणायाम एवं ध्यानभस्त्रिकाकपालभांतिबाह्यप्राणायाअनुलोम विलोमभ्रामरीउदगीथउज्जायीप्रनव जप।
और पढ़ेंः जानिए क्या है योग

एक्ज़िमा रोगियों के लिए डाइट प्लान (Diet Plan for Eczema Patient)

क्या आप एक्जिमा से ग्रस्त हैं और बीमारी का इलाज भी करा रहे हैं। क्या आप जानते हैं कि इलाज के दौरान अगर आप सही खान-पान ना रखें तो बीमारी कोई भी हो जल्दी ठीक नहीं होती है। डॉक्टर के अनुसार, मरीजों को एक्जिमा का इलाज कराने के साथ-साथ उचित खान-पान की बहुत जरूरत होती है। इसलिए यहां एक्जिमा के लिए डाइट प्लान की जानकारी दी जा रही है।
एक्जिमा रोगी इस डाइट चार्ट को अपनाकर ना सिर्फ बीमारी पर नियंत्रण पा सकते हैं, बल्कि रोग को जल्दी ठीक करने में भी सफल हो सकते हैं। 

एक्जिमा रोग में क्या खाएं (Your Diet During Eczema)

एक्जिमा से ग्रस्त लोगों का आहार ऐसा होना चाहिएः-
  • अनाजगेहूंजौ
  • दाल: मूँगमसूर व अरहर
  • फल एवं सब्जियांसहजन (शिग्रु)टिंडापरवललहसुनटमाटरमौसमी ताजी सब्जियाँ (लौकीतोरईकरेलाकददूसेबपपीताअनारगोभीगाजरफालसाआंवला।
  • अन्यहल्का भोजनघीशहद,  गुनगुना पानीतीखा आहारपुराना घीनारियल तेलनींबूलहसुनजायफल।
और पढ़ें: सेक्सुअल पॉवर बढ़ाने में जायफल के फायदे

एक्जिमा रोग में क्या ना खाएं (Food to Avoid in Eczema)

एक्जिमा से ग्रस्त लोगों को इनका सेवन नहीं करना चाहिएः-
  • अनाजनया धानमैदा
  • दालकाबुली चनामटरकाले चनादेशी चने
  • फल एवं सब्जियांआलूशिमला मिर्चकटहलबैंगनअरबी (गुइया), भिंडीजामुनआड़ूकच्चा आमकेलासभी मिर्च
  • अन्यऐसे भोजन जो जलन और गैस उत्पन्न करे और पाचन कम करे।
  •  दूध, दहीमछलीगुड़उड़दठंडा भोजनदूषित पानीठंडा पानीसूखा भोजनठंडे भोज्य पदार्थ। देर से भोजन नहीं लें।
  • विरुद्धाहार (दूध + मछली)गुड़सूखे मेवे।
  • सख्त मना :- तैलीय मसालेदार भोजनमांसहार और मांसाहार सूपअचारतेलअधिक नमककोल्डड्रिंक्समैदे वाले पर्दाथशराबफास्टफूडसॉफ्टड्रिंक्सजंक फ़ूडडिब्बा बंद खाद्य पदार्थ।
और पढ़ेंः दूध से होने वाले अनेक फायदे

एक्जिमा के इलाज के दौरान आपका डाइट प्लान (Diet Plan for Eczema Treatment)

एक्जिमा के उपचार के लिए सुबह उठकर दांतों को साफ करने (बिना कुल्ला कियेसे पहले खाली पेट 1-2 गिलास गुनगुना पानी पिएं। नाश्ते से पहले पतंजलि आवंला व एलोवेरा रस पिएं।

समयआहार योजना शाकाहार )
नाश्ता (8 :30 AM)कप पतंजलि दिव्य पेय + 2-3  पतंजलि आरोग्य बिस्कुट /कम नमक वाला पतंजलि आरोग्य दलिया /पोहा /उपमा (सूजी ) / अंकुरित अनाज /1- 2 पतली रोटी (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा ) + 1 कटोरी  सब्जी (उबली हुई) / 1 प्लेट फलों का सलाद (सेबपपीताअनार)
दिन का भोजन  (12:30-01:30 PM1-2 पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा ) +1 कटोरी चावल (मांण्ड रहित)/खिचड़ी, 1- कटोरी हरी सब्जियां (उबली हुई) + 1- कटोरी दाल मूंग (पतली ) + 1 प्लेट सलाद
शाम का नाश्ता (5:30-6:00 pm)1 कप दिव्य पेय + 1-2 बिस्कुट / (आरोग्य, पतंजलि) / सब्जियों सूपसलाद
रात का भोजन (7: 00 – 8:00 Pm)1-2  पतली रोटियां (पतंजलि मिश्रित अनाज आटा ) + 1 कटोरी हरी सब्जियां रेशेदार + 1 कटोरी दाल मूंग (पतली )   
सोते समय (10:00 PM)पतंजलि हरिद्राखंड पाउडर गिलास गुनगुना पानी के साथ लें |
सलाहयदि मरीज को चाय की आदत है तो इसके स्थान पर कप पतंजलि दिव्य पेय दे सकते हैं |
और पढ़ेंः मूंग के फायदे और उपयोग

एक्जिमा की बीमारी में आपकी जीवनशैली (Your Lifestyle for Eczema Treatment)

एक्जिमा की बीमारी में आपकी जीवनशैली ऐसी होनी चाहिएः-
  • थोड़ा व्यायाम करें।
  • रोज कायाकल्प तेल से मालिश कर स्नान करें
  • भोजन पचने के बाद ही कुछ खाएं।
  • गुस्साडर या चिंता ना करें।
  • दिन में ना सोएं।
  • पेशाब और शौच को ना रोकें।
  • पूर्वी हवाओं का अत्यधिक सेवन करें।
और पढ़ें – एक्जिमा का घरेलू इलाज

एक्जिमा की बीमारी में ध्यान रखने वाली बातें (Points to be Remember in Eczema Disease)

एक्जिमा से मुक्ति पाने के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना हैः-
(1) ध्यान एवं योग का अभ्यास रोज करें।
(2) ताजा एवं हल्का गर्म भोजन अवश्य करें।
(3) भोजन धीरे-धीरे शांत स्थान में शांतिपूर्वकसकारात्मक एवं खुश मन से करें।
(4) तीन से चार बार भोजन अवश्य करें।
(5) किसी भी समय का भोजन नहीं त्यागें एवं अत्यधिक भोजन से परहेज करें।
(6) हफ्ते में एक बार उपवास करें।
(7) अमाशय का 1/3rd / 1/4th भाग खाली छोड़ें।
(8) भोजन को अच्छी प्रकार से चबाकर एवं धीरेधीरे खायें।
(9) भोजन लेने के बाद 3-5 मिनट टहलें।
(10) सूर्यादय से पहले [5:30 – 6:30 am] जाग जायें।
(11) रोज दो बार दांत साफ करें।
(12) रोज जिव्हा करें।
(13) भोजन लेने के बाद थोड़ा टहलें।
(14) रात में सही समय [9- 10 PM] पर नींद लें।
और पढ़ेंः एक्जिमा के कारण, लक्षण, घरेलू इलाज और परहेज

योग और आसन से एक्जिमा का उपचार (Yoga and Asana for Eczema Treatment)

एक्जिमा से छुटकारा पाने के लिए आप ये योग और आसन कर सकते हैंः-
  • आसनसूक्ष्म व्यायामपश्चिमोत्तानासनहलासनमर्कटासनसर्वांगासन।
  • योग प्राणायाम एवं ध्यानभस्त्रिकाकपालभांतिबाह्यप्राणायाअनुलोम विलोमभ्रामरीउदगीथउज्जायीप्रनव जप।
और पढ़ेंः जानिए क्या है योग

No comments